बूंदी उत्सव का हुआ आगाज, कलाकारों ने बिखेरे लोकसंस्कृति के रंग, देखें- तस्वीरें

राजस्थान


बूंदी/जयपुर। राजस्थान में गौरवशाली इतिहास और अनूठी स्थापत्य कला के लिए विख्यात बूंदी में सोमवार से ‘बूंदी उत्सव’ का आगाज हुआ। दो दिवसीय इस उत्सव का मंगलवार समापन होना है। कोरोना काल के कारण समिति समय में ही उत्सव को सेलिब्रेट किया जा रहा है। हाड़ौती के लोक कलाकारों ने अपनी बेहतरीन रंग-बिरंगी सांस्कृतिक प्रस्तुतियों से इसे बेहद खास बना दिया है। अद्भुत चित्र शैली, देशी-विदेशी पर्यटकों के लिए बड़ा आकर्षण का केंद्र बनी हुई है। यहां तस्वीरों के जरिए देखिए उत्सव की झलक

हरियाली के बीच अनूठी छटा

बूंदी कोटा से लगभग 36 किमी दूर स्थित है जहां आपको एक से एक ऐतिहासिक जगहें देखने को मिल जाएंगी। यहां की नदियां और झीलें भी पर्यटकों को बेहद आकर्षित करती हैं। मंगलवार को भी बूंदी उत्सव के तहत शहर में कई कार्यक्रमों का आयोजन होना है। इनमें देसी-विदेशी पर्यटक भी शामिल होने वाले हैं।

नवलसागर झील में दीपदान

नवलसागर झील में दीपदान का कार्यक्रम रखा। शहर को सजाने के लिए वॉल पेंटिंग कलाकार कलाकारों ने की।

शहर में कई कार्यक्रमों का आयोजन

बूंदी खेल संकुल विभिन्न प्रतियोगिताएं हुई। स्थानीय नागरिक एवं पर्यटक रोचक प्रतियोगिताओं में हिस्सा लिया।

23 नवंबर तक प्रदर्शनी

23-

बूंदी उत्सव की तक की विकास यात्रा को भी प्रदर्शित किया । प्रदर्शनी 23 नवंबर तक चलेगी।

बूंदी के पर्यटन स्थलों पर उमड़ी भीड़

सोमवार सुबह 9 बजे से शाम तक राजस्थानी लोक कलाकारों की प्रस्तुतियां बूंदी के पर्यटन स्थलों पर हुई। बूंदी उत्सव पर सोमवार को आर्ट गैलरी में फोटो और चित्रकला प्रदर्शनी का शुभारंभ हुआ। प्रदर्शनी में बूंदी ब्रश और अन्य कलाकारों द्वारा बूंदी शैली और अन्य विभिन्न विषयों की चित्र कृतियां प्रदर्शित की गई।

कलेक्टर रेणु जयपाल ने किया आह्वान

जिला प्रशासन एवं पर्यटन विभाग की ओर से विभागों एवं संस्थाओं के सहयोग से उत्सव आयोजित किया जा रहा हैं। कलेक्टर रेणु जयपाल ने आह्वान किया है कि बूंदी के नागरिक इस उत्सव की सभी गतिविधियों में हिस्सा लेकर उनका सौंदर्य बढ़ाएं।

ऐसे शुरू हुआ उत्सव

बूंदी नगर परिषद सभापति मधु नुवाल ने उत्सव का शुभारंभ किया। जिला प्रमुख चंद्रावती, जिला कलेक्टर कुमारी रेनू जयपाल, एडीएम एयू खान अन्य अधिकारी और गणमान्य नागरिक मौजूद रहे। गढ़ गणेश का पूजन किया गया। झंडा रोहण हुआ।

लोक कलाकारों ने सबका मनमोह लिया

सोमवार को हाड़ौती के चकरी नृत्य, तेजाजी गायन टोली और आदिवासी लोक कलाकारों ने सबका मनमोह लिया।

गणेश पूजन के साथ बूंदी उत्सव का आगाज

हाड़ौती के प्रमुख सांस्कृतिक एवं पर्यटन महोत्सव बूंदी उत्सव का आगाज सुबह 8.30 बजे गढ़ गणेश पूजन के साथ हुआ।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *