BENEFITS OF GILOY – भयानक बीमारियों का इकलौता इलाज – गिलोय

BENEFITS OF GILOY – भयानक बीमारियों का इकलौता इलाज – गिलोय

Health Update Uncategorized

In Ayurveda, Giloy is considered one of the best medicine to treat various fevers and other conditions. Giloy is one of the three Amrit plants. Amrit means the ‘root of immortality. Hence, it is also called Amritavalli or Amrita in Sanskrit.

CORONA – कोराना से बचने और इम्यून सिस्टम को स्ट्रॉन्ग बनाने के लिए आप गिलोय का भरपूर मात्रा में सेवन कर सकते हैं। गिलोय की पत्त‍ियों में कैल्शि‍यम, प्रोटीन, फॉस्फोरस भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो शरीर को बहुत सी बीमारियों से बचाता है.
आयुर्वेद में मनुष्य की इम्यूनिटी को बढ़ाने के लिए कई जड़ी-बूटियों के बारे में बताया गया है। इनमें से सबसे असरदार गिलोय (Giloy) या अमृता (Amrita) को माना जाता है। गिलोय (Giloy) एक बेल है। ये आमतौर पर खाली मैदान, सड़क के किनारे, जंगल, पार्क, बाग-बगीचों, पेड़ों-झाड़ियों और दीवारों पर उगती है। गिलोय का वैज्ञानिक नाम ‘टीनोस्पोरा कार्डीफोलिया’ (Tinospora Cordifolia) है।
Kidney will be safe due to consumption of Giloy full of medicinal  properties JagranSpecial

गिलोय के पत्ते स्वाद में कसैले, कड़वे और तीखे होते हैं। गिलोय का उपयोग कर वात-पित्त और कफ को ठीक किया जा सकता है। यह पचने में आसान होती है, भूख बढ़ाती है, साथ ही आंखों के लिए भी लाभकारी होती है। आप गिलोय के इस्तेमाल से प्यास, जलन, डायबिटीज, कुष्ठ और पीलिया रोग में लाभ ले सकते हैं। इसके साथ ही यह वीर्य और बुद्धि बढ़ाती है और बुखार, उलटी, सूखी खाँसी, हिचकी, बवासीर, टीबी, मूत्र रोग में भी प्रयोग की जाती है। महिलाओं की शारीरिक कमजोरी की स्थिति में यह बहुत अधिक लाभ पहुंचाती है।

कोरोना काल में इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए गिलोय

कोरोना वायरस के इस दौर में गिलोय की मांग काफी बढ़ गई है. वैज्ञानिकों के मुताबिक मजबूत इम्यूनिटी से कोरोना वायरस को मात दी जा सकती है और गिलोय इम्यूनिटी बढ़ाने की एक प्रभावशाली औषधि है. लिहाजा, कोरोना काल में इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए गिलोय की मांग काफी बढ़ गई है. बाजारों में गिलोय कई रूप में उपलब्ध है. गिलोय का जूस और गिलोय की गोलियों से भी हम अपनी इम्यूनिटी बढ़ा सकते हैं. इसके अलावा गिलोय का काढ़ा बनाकर भी सेवन किया जा सकता है.

Giloy for Corona-virus infection

Giloy can boost immunity hence it may be useful for various fevers specifically for viral fevers like corona infection. Though there is no evidence that Giloy can cure corona infection but it can raise your immunity to fight against it.  According to some scientific studies, the results show promising results to control Corona infection.

How to use it – You can take Giloy kadha or Giloy juice two times per day for 4-6 weeks. Some studies suggest that a combination of Giloy and Ashwagandha may provide you a shield against this deadly infection.

एनीमिया की परेशानी को दूर करता है
महिलाओं में एनीमिया की परेशानी बहुत आम बात है. गिलोय का सेवन करने से एनीमिया की परेशानी दूर हो सकती है. इसके साथ आप घी और शहद मिलाकर यूज करें जिससे शरीर में खून की कमी दूर हो सकती है.

2. खून साफ करने में मदद करता है गिलोय
गिलोय में एंटीऑक्सिडेंट भारी मात्रा में पाया जाता है होता जो आपकों झुर्रियों की परेशानी से मुक्ति दिलाता है और कोशिकाओं को स्वस्थ और निरोग रखने में मदद करता है. गिलोय की पत्तियां शरीर से टॉक्सिन को बाहर निकालकर खून को साफ करने में मदद करती है.

3. डायबिटीज मरीजों के लिए है मददगार
गिलोय ब्लड शुगर के लेवल को कंट्रोल करने में मदद करता है क्योंकि यह हाइपोग्लाइकेमिक एजेंट के रूप में काम करता है. गिलोय डायबिटीज टाइप 2 के मरीजों के लिए बहुत फायदेंमद होता है.

4. एलर्जी को दूर करने में है मददगार
कई लोगों को हाथ-पैरों में जलन या स्किन एलर्जी की परेशानी होती है. ऐसे लोग गिलोय को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं. गिलोय की पत्त‍ियों को पीसकर उसका पेस्ट तैयार करके उसे सुबह-शाम पैरों और हथेलियों पर लगाएं. आपकों एलर्जी से तुरंत राहत मिलेगी.

5. पाचन तंत्र को रखता है अच्छा
डाइजेशन से जुड़ी समस्याओं को दूर करने में गिलोय बहुत मददगार होता है. इसके सेवन से कब्ज और गैस की प्रॉब्लम से छुटकारा मिलता है और पाचन क्रिया अच्छी रहती है. आप गिलोय के साथ आंवला या गुड़ का भी इस्तेमाल कर सकते है जिससे आपकों तुरंत राहत महसूस होगी.

डायबिटीज के लिए गिलोय (Giloy For Diabities)

  • गिलोय के 10-20 मिली रस में 2 चम्मच शहद मिलाकर दिन में दो-तीन बार पीने से भी डायबिटीज में फायदा होता है।
  • एक ग्राम गिलोय सत् में 3 ग्राम शहद को मिलाकर सुबह शाम सेवन करने से डायबिटीज में लाभ मिलता है।
  • 10 मिली गिलोय के रस को पीने से डायबिटीज, वात विकार के कारण होने वाली बुखार तथा टायफायड में लाभ होता है।

रयूमेटाइड आर्थराइटिस के लिए गिलोय (Giloy For Rheumatoid Arthritis)

रयूमेटाइड आर्थराइटिस को हिंदी में आमवातीय संधिशोथ कहा जाता है। ये एक प्रकार का ऑटो इम्यून गठिया होता है। गिलोय के नियमित सेवन से रयूमेटाइड आर्थराइटिस के कई मरीजों ठीक होते देखा गया है। गिलोय में एंटी ऑर्थराइटिक और एंटी इंफ्लेमेट्री गुण पाए जाते हैं।

रयूमेटाइड आर्थराइटिस के उपचार के लिए गिलोय और अदरक को एक साथ मिलाकर सेवन किया जाता है। जबकि जोड़ों या गठिया के दर्द के उपचार के लिए गिलोय के तने या पाउडर को दूध के साथ उबालकर पीने की सलाह दी जाती है।

पीलिया को ठीक करता है (Cure For Jaundice)

गिलोय के 20-30 पत्ते लेकर पीस लें। एक गिलास ताजी छांछ लेकर पेस्ट को उसमें मिला लें। दोनों को एक साथ छानने के बाद उसे मरीज को पिला दें।

ईयर वैक्स की समस्या दूर करता है (Stubborn Ear Wax)

कई बार कान से मैल या ईयर वैक्स निकालना काफी मुश्किल प्रक्रिया हो सकती है। ऐसे में सामान्य तौर पर इस्तेमाल होने वाले ईयर बड्स भी किसी काम नहीं आते। ऐसी स्थिति में गिलोय का प्रयोग करना सही विकल्प हो सकता है।

गिलोय ईयर ड्रॉप बनाने के लिए, थोड़ी सी गिलोय लेकर उसे पानी में पीस लें और गुनगुना गर्म कर लें। अब इसे ईयरड्रॉप की तरह इस्तेमाल किया जा सकता है। दिन में दो बार इसकी कुछ बूंदों को कान में डाला जा सकता है। इससे कान में जमा हुआ पुराना और जिद्दी मैल या ईयर वैक्स भी बाहर निकल आएगा।

बुखार में गिलोय (Giloy For Fever)

ये ब्ल्ड प्लेटलेट्स को बढ़ाने में, जानलेवा बीमारियों से लड़ने में मदद करता है। डेंगी बुखार की समस्या होने पर भी ये उसके लक्षणों को दूर करता है। गिलोय के सत को थोड़ी मात्रा में शहद के साथ मिलाकर इस्तेमाल करने पर मलेरिया की समस्या को भी दूर किया जा सकता है।

अस्थमा को ठीक करती है (Treating Asthma)

अगर किसी को अस्थमा की समस्या हो तो, उसे गिलोय की जड़ चबाने की सलाह दी जाती है। इससे सीने का कड़ापन दूर होता है और गले में घरघराहट, कफ आना और सांस से जुड़ी समस्याओं में राहत मिलती है।

यौनेच्छा को बढ़ाता है (Aphrodisiac)

क्या आप अपने पार्टनर को इंप्रेस करना चाहते हैं? अगर आप भी अपने लिबिडो या यौनेच्छा को नेचुरल तरीके से बढ़ाना चाहते हैं तो, गिलोय जूस का सेवन कीजिए। ये साबित किया जा चुका है कि गिलोय में एफ्रोडिजिक या यौनेच्छा को बढ़ाने वाले गुण पाए जाते हैं। ये आपकी सेक्स लाइफ को बेहतर बनाने में भी मदद करता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *