Garlic – एक लहसुन रोज – आपके सेहत का खजाना दूर रखे कैंसर, हार्टअटैक ,ब्लडप्रेसर, मोटापा जैसे अनेको बीमारियों से

Garlic – एक लहसुन रोज – आपके सेहत का खजाना दूर रखे कैंसर, हार्टअटैक ,ब्लडप्रेसर, मोटापा जैसे अनेको बीमारियों से

Health Update Uncategorized

सुबह इस तरीके से खाएंगे लहसुन, तो मिलेंगे ये कमाल के फायदे

लहसुन प्याज की जाति की वनस्पति है। इस वनस्पति में एक तीव्र गंध होती है जिसके कारन इसे एक औषधि का दर्जा दिया गया है। दुनियाभर में लहसुन का उपयोग मसाले, चटनी, सॉस, अचार तथा दवाओ के तौर पर किया जाता है। लहसुन खाने से खून का जमाव नहीं होता है और हार्ट अटैक (Heart Attack) होने का खतरा कम हो सकता है. लहसुन खाने से हाई बीपी ((Garlic For High BP) में आराम मिल सकता है. दरअसल, लहसुन ब्‍लड सर्कुलेशन (Garlic For Blood Circulation) को कंट्रोल करने में काफी मददगार हो सकता है.

  • रोज सुबह कच्चा लहसुन एक गिलास पानी के साथ खाने से आपका पाचन हमेशा ठीक रहता है और पाचन संबंधी विकार भी दूर रहते हैं.
  • रोज एक कच्चा लहसुन पानी के साथ खाने से शरीर का वजन घटता है अर्थात कच्चा लहसुन आपके वजन को घटाने में भी लाभकारी है.
  • रोजाना सुबह पानी के साथ कच्चा लहसुन खाने से आपके शरीर से विषैले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं.
  • सुबह कच्चा लहसुन पानी के साथ लेने पर आपके शरीर को डिटॉक्स करने का बेहतरीन तरीका है.
  • अगर आप रोजाना एक गिलास पानी के साथ कच्चा लहसुन खाते हैं तो आप कई प्रकार के कैंसर, डिप्रेशन और डायबिटीज से भी बच जाते हैं.
  • रोजाना कच्‍चा लहसुन खाने से रक्त में उपस्थित ग्‍लूकोज लेवल कम करने में मदद मिलती है, जिसकी वजह से आपका शुगर लेवल नियंत्रित रहता है.
  • पहले भी ऐसा माना जाता रहा है कि अगर कच्चे लहसुन के साथ पानी लेते हैं तो आप टीबी की बीमारी से भी बच सकते हैं.
  • अगर आप रोजाना पानी के साथ लहसुन का सेवन करते हैं तो आपको सर्दी-जुकाम और अस्‍थमा आदि छू भी नहीं सकता है.
  • लहसुन का सेवन आपके बैड कोलेस्‍ट्रोल को कम करता है और आपको ह्रदय को कार्डियोवस्‍कुलर बीमारियों से बचाता है.
  • लहसुन के सेवन से यूटीआई यानी मूत्र मार्ग में संक्रमण और किडनी इंफेक्‍शन जैसी समस्‍याओं से बचा जा सकता है क्योंकि इन दोनों संक्रमणों से लड़ने में लहसुन
  • कारगर है. यूटीआई से परेशान महिलाओं को भी रोज सुबह एक गिलास पानी के साथ लहसुन खाना चाहिए.

ये  लोग लहसुन खाने में बरतें सावधानियां
रोजाना सुबह हमेशा ताजा लहसुन खाना तो स्वास्थ्य के लिए लाभदायक तो होता ही है लेकिन कुछ लोगों के लिए ये हानिकारक भी होता है ऐसे लोगों को लहसुन खाने से बचना चाहिए. इसके अलावा ज्यादा लहसुन खाने से भी परहेज करना चाहिए क्योंकि लहसुन का अधिक सेवन आपके शरीर पर नकारात्मक प्रभाव छोड़ता है.  साथ ही ये भी बता दें कि जिन लोगों को लहसुन से एलर्जी है, वो कच्‍चा लहसुन बिलकुल न खाएं. इनके अलावा गर्भवती महिलाओं और अल्‍सर के मरीजों को भी रोज लहसुन खाने से बचना चाहिए.

अल्जाइमर और डिमेंशिया से बचाव
Alzheimer's brain scan detects tau protein - BBC News

लहसुन में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स शरीर में होने वाले ऑक्सीडेशन प्रोसेस को रोकने में फायदेमंद होते हैं। गार्लिक यानि लहसुन की नियमित सेवन से दिमाग और शरीर में होने वाले ऑक्सीडेटिव डैमेज घटते हैं। इस वजह से एंजाइम आदि का ऑक्सीडेशन से टूटना कम हो जाता है। एंटीऑक्सीडेंट्स दिमाग की कोशिकाओं को होने वाले डैमेज को भी बचाते हैं। लहसुन के सेवन से एंटीऑक्सीडेंट्स शरीर को भरपूर मात्रा में मिलते हैं जो अल्जाइमर और डिमेंशिया जैसी बीमारियों से बचाने में फायदेमंद होते है।

सांस के विकार, दमा

FAQs: Asthma Frequently Asked Questions - RxList

लहसुन दमा के रोगियों के लिए अत्यंत लाभदायक साबित हो सकता है। सांस आसानी से चले, इसलिये लहसुन की एक पंखुडी गर्म करके नमक के साथ खाये। दमा कम होने लिये एक प्याली गर्म पानी में दो चम्मच शहद और १० बूंद लहसुन का रस लीजिये। सोने से पूर्व लह्सून की ३ पंखुडीया दुध में उबालकर लेने से रात में दमा की तकलीफ काफी हद तक कम हो सकती है। दमा से आराम पाने के लिये एक लहसुन बारीक पीस कर १२० मिली माल्ट व्हिनेगरमें डाल कर उबाल लीजिये। ठंडा  होने के बाद छानकर, उतनी ही मात्रा में शहद मिलाकर तैयार करें । यह रसायन २ चम्मच मेथी के अर्क के साथ सोने से पूर्व लें। न्युमोनिया में आराम पाने के लिये एक लिटर पानी में एक ग्राम लहसुन और २५० मिली दूध डालकर उबालें । एक चौथाई होने तक उबालते रहें । यह दूध दिन में तीन बार लें। क्षय रोग में आराम पाने के लिये लहसुन दूध में उबाल कर लेना चाहिये, ऐसा आयुर्वेद में बताया गया है।

उच्च रक्त चाप

lood-pressure-5f3643808da14

लहसुन के उचित उपयोग से रक्त वाहिका के उपर आनेवाला दबाव और तनाव काम हो जाता है।नाड़ी और ह्रदय के कंपन की गति कम होती है। उच्च रक्त चाप के उपचार के लिए लहसुन तेल की छह बुंदे, चार चम्मच पानी के साथ दो बार ले। बढा हुआ रक्त चाप कम करने के लिये लहसून, पुदिना, जीरा, धनिया, काली मिर्च और सैंधा नमक से बनी हुई चटनी का सेवन करना चाहिये।

हृदय रोग

लहसुन के नियमित सेवन से रक्त वाहिका में जमा हुआ कोलॅस्टेरोल (Cholesterol) आसानी से निकलने में मदद होती है और दिल का दौरा आने की संभावना कम होती है।

कैंसर

कैंसर में लहसुन का नियमित सेवन जारी रखने से सफेद रक्त कोशिकाओं की संख्या बढती है तथा कैंसर की कोशिकाओं की बढत १३९ % से कम हो जाती है।

 

1 thought on “Garlic – एक लहसुन रोज – आपके सेहत का खजाना दूर रखे कैंसर, हार्टअटैक ,ब्लडप्रेसर, मोटापा जैसे अनेको बीमारियों से

  1. Pingback: NEEM perfect Immune booster - Help Fight Against Coronavirus - City live News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *