राकेश टिकैत मामले में पुलिस का खुलासा, पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष ने सस्ती लोकप्रियता के लिए किया था हमला

राजस्थान


हाइलाइट्स:

  • राकेश टिकैत के काफिले पर हमला मामले में बड़ा खुलासा
  • हमले में भाजपा और कांग्रेस सहित किसी राजनीतिक पार्टी का नहीं था हाथ
  • राजनीतिक वजूद ढूंढने और सस्ती लोकप्रियता के लिए किया हमला
  • पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष कुलदीप भाजपा और कांग्रेस दोनों पार्टियों के नेताओ के था संपर्क में
  • छात्रनेता कुलदीप यादव ने पुलिस पूछताछ में किया स्वीकर,तातारपुर पुलिस ने किया खुलासा

अलवर
अलवर जिले के तातारपुर में किसान नेता राकेश टिकैत के काफिले पर हमले मामले में राजनीतिक आरोप -प्रत्यारोप के बीच पुलिस ने अहम खुलासा किया है। पुलिस ने बताया कि पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष राजनीतिक वजूद और पहचान बनाने के लिए यह विरोध प्रदर्शन के इस तरीके को अपनाकर सस्ती लोकप्रियता हासिल करने के लिए घटना को अंजाम दिया था। पुलिस की जांच में सामने आया है कि तातारपुर थाना पुलिस कस्टडी में पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष कुलदीप यादव ने कबूला कि सस्ती लोकप्रियता पाने के लिए किसान नेता राकेश टिकैत पर हमला किया था। बताया जा रहा है कि कुलदीप यादव बीजेपी और कांग्रेस के दोनों ही पार्टियों के नेताओं के संपर्क में था। लेकिन इस हमले में किसी भी पार्टी से संबंध नहीं पाया गया है।

प्रदेश में रिकॉर्ड 1675 कोरोना संक्रमित , अब पूरे 33 जिलों में फिर फैला संक्रमण

जांच में हुआ खुलासा
ततारपुर थाने में पत्रकारों से वार्ता में एएसपी नीमराना गुरुशरण राव ने कहा कि
भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता और किसान आंदोलन के बड़े चेहरे राकेश टिकैत पर हमले मामले में अहम जानकारी मिली है। उन्होंने कहा कि शुक्रवार को अलवर जिले के ततारपुर चौराहे पर हमले का प्रयास पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष कुलदीप यादव ने लोकप्रियता पाने के लिए किया था। प्रथम दृष्टया जांच में सामने आया कि मुख्य आरोपी पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कुलदीप यादव दोनों भाजपा व कांग्रेस पार्टी के नेताओं के संपर्क में रहता था। हालांकि जांच में यह भी सामने आया कि इसका ना भाजपा और ना ही कांग्रेस व अन्य किसी राजनीतिक पार्टी से इस संबंध में संपर्क रहा है।

30-40 साथियों के साथ मिलकर किया था हमला
एएसपी नीमराना गुरुशरण राव ने बताया कि किसान नेता राकेश टिकैत, राजाराम मील और युद्धवीर सिंह आदि शुक्रवार को अलवर के हरसौली में किसान सभा को सम्बोधित कर बानसूर में किसान सभा के लिए जा रहे थे। तभी शुक्रवार शाम करीब साढ़े 4 बजे मत्स्य विश्विद्यालय पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कुलदीप यादव ने अपने करीब 30-40 साथियों के साथ उनके काफिले पर तख्तियां दिखाई। वहीं काले झंडे व नारे लगाते हुए, पथराव कर दिया था। हमले में राकेश टिकैत को चोट नहीं आई, लेकिन उनकी गाड़ी के शीशे टूट गए। इसके बाद उन्हें दूसरी गाड़ी में बानसूर सभा के लिए रवाना कर दिया।

Jalore news : सांचौर NH -68 पर हुआ बड़ा सड़क हादसा, एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत

दो दिन की मिली पुलिस को रिमांड
पुलिस ने बताया कि मामले की कुलदीप यादव ने पूछताछ की, तो उसने बताया कि उसने अपने मामा से तीन लाख रुपए उधारे लिए थे। इनमें से दो लाख उधारी चुका दी थी। बाकी करीब पचास हजार रुपये इन तीस-चालीस साथियों पर खर्च कर दिए। 45 हजार रुपये नकद बच गए। वहीं पुलिस ने एक गाड़ी को जब्त कर लिया। इस मामले में पुलिस 16 लोगों की गिरफ्तारी कर चुकी है। वहीं अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास जारी है। इन गिरफ्तार आरोपियों का किसी भी राजनीतिक पार्टी या दल से संबंध होना नहीं पाया गया है। पुलिस ने छात्र संघ अध्यक्ष कुलदीप यादव सहित गिरफ्तार 16 आरोपियों को किशनगढ़बास कोर्ट में पेश कर दिया है, जहां से न्यायाधीश ने उन्हें दो दिन के पीसी रिमांड पर भेजने के आदेश दिए।

राकेश टिकैत मामले में पुलिस का खुलासा, पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष ने सस्ती लोकप्रियता के लिए किया था हमला

राकेश टिकैत मामले में पुलिस का खुलासा, पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष ने सस्ती लोकप्रियता के लिए किया था हमला



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *