बिहार से किया किडनैप…यूपी और राजस्थान में बेचा, 3 साल बाद बिन ब्याही मां के रूप में मिली पीड़िता

राजस्थान


हाइलाइट्स:

  • बिहार से अपहरण हुई अब तीन साल बाद मिली दौसा में
  • किडनैप के बाद जगह-जगह बेचा, जब मिली तो बन चुकी थी दो बच्चों की बिन ब्याही मां
  • सभ्य समाज के लिए धब्बा है यह दास्तां,
  • परिजनों का आरोप- बिहार पुलिस ने नहीं किया सहयोग

रेखा शर्मा, दौसा
जब वह नाबालिग थी, उसका अपहरण कर लिया, जगह-जगह बेच भी दिया। खुद के राज्य की पुलिस ने सहयोग नहीं किया और नाबालिग के चरित्र पर सवाल उठाकर परिजनों को टरकाती रही। तीन साल बाद वह मिली लेकिन उसकी गोद में दो मासूम बच्चे थे। बिना शादी के ही उसके बच्चे हो गए, जब महिला को भाई मिला तो दोनों रो पड़े। जानिए, बिहार की लड़की के साथ हुई शोषण की इंतहा, अपराध का दौसा कनेक्शन।

बिहार के जहानाबाद से 2018 में किया अपहरण
बिहार के जहानाबाद से जून 2018 में एक नाबालिग का अपहरण हुआ जिसके बाद नाबालिग के परिजनों ने थाने में अपहरण का केस दर्ज कराया और आरोपियों को नामजद भी किया। इन आरोपियों में एक हिमाचल प्रदेश का बाकी सब बिहार के रहने वाले थे। आरोपियों की गैंग महिलाओं का अपहरण कर उन्हें बेच देती थी। इस गैंग में एक महिला भी शामिल थी। इसी महिला ने नाबालिग को फंसाया और उसे अपहरण करवाकर उत्तर प्रदेश के नोएडा और राजस्थान के दौसा तक भिजवा दिया।

इसे भी पढ़ें:- सलमान खान की तरह शर्ट उतार कर पहुंचा युवक, प्रेमिका के लिये तान दी पिस्तौल
परिजनों का आरोप- बिहार पुलिस ने नहीं किया सहयोग
इधर नाबालिग के परिजन चिंतित होते रहे और स्थानीय एसएसपी से लेकर बिहार के डीजीपी तक शिकायत लेकर चक्कर काटते रहे। एक ही मांग करते रहे कि उनकी बेटी और बहन को वापस ला दो। लेकिन उनका आरोप है कि बिहार पुलिस ने पीड़िता के परिजनों का बिल्कुल भी सहयोग नहीं कर रही थी। परिजनों को यह कहकर टरका दिया जाता था कि आपकी लड़की प्रेम प्रसंग के चलते भाग गई। जिसके बाद नाबालिग का भाई दिन-रात पुलिस और प्रशासन के चक्कर काटता रहा और अपने स्तर पर ही कॉल डिटेल और मोबाइल की लोकेशन ट्रेस करता रहा।

Wedding Viral video : शादी में जमकर हुई फायरिंग, हथियार लहरा कर झूमते रहे बाराती

नाबालिग के भाई को ऐसे मिली बहन की जानकारी
जब नाबालिग के भाई को पता चला कि उसकी बहन राजस्थान के दौसा में है तो वह फिर थाने में गया और पुलिस को साथ लेकर दौसा आया। इसके बाद बिहार पुलिस दौसा की सदर थाना पुलिस के सहयोग से गांगल्यावास गांव पहुंची और महिला को कब्जे में कर लिया। महिला की हालत देखकर उसके भाई का रो-रो कर बुरा हाल हो गया। दस्तयाब हुई महिला ने मीडिया के सामने तो कुछ नहीं कहा लेकिन अपने भाई को पूरी आपबीती सुनाई। महिला के साथ खरीदारों ने शादी नहीं की और उसके दो बच्चे भी हो गए। उस महिला को कई जगह बेचा गया।

लेडीज टॉयलेट में घुसे मंत्री का वीडियो वायरल, सोशल मीडिया पर हो रही किरकिरी

दौसा पुलिस के सहयोग से मिली पीड़िता
दौसा में भी उसे 5 लाख रुपए में खरीदकर लाया गया। महिला के भाई का आरोप था कि बिहार पुलिस ने कोई सहयोग नहीं किया और जिन आरोपियों ने अपहरण करके महिला को भेजा था। उन पर आज तक कोई कार्रवाई नहीं की गई। इन आरोपियों में कई बिहार के जहानाबाद के डॉन हैं। पीड़ित महिला के भाई का कहना था कि दौसा पुलिस ने उनका बहुत सहयोग किया है।

Asaram bapu health : गुपचुप आसाराम से अस्पताल में मिलने पहुंची शिल्पी, पूछा, तो बोली किसी और काम से आई हूं …

आरोपियों की तलाश में जुटी पुलिस
बिहार पुलिस के एसआई रंजन कुमार ने बताया कि अब बिहार पुलिस महिला को लेकर बिहार के लिए रवाना हो गई है। साथ ही पूरे मामले की जांच की जा रही है कि महिला का अपहरण करने में कौन-कौन लोग शामिल थे और इस महिला को कहां-कहां बेचा गया था और इनके खरीददार कौन-कौन हैं।

Asaram viral video: तबीयत बिगड़ने के बाद अस्पताल पहुंचे आसाराम, देते रहे पुलिसकर्मियों को प्रवचन

सभ्य समाज के लिए धब्बा है ये घटना
देश 21वीं सदी की रेस में दौड़ रहा है लेकिन आज भी महिलाओं को बेचा जाता है और खरीदा जाता है। यह घटना सभ्य समाज के लिए धब्बा है वहीं ऐसा करने वाले अपराधियों में पुलिस का खौफ नहीं है या यूं कहें कि पुलिस के ढीले रवैये से ऐसे अपराधी सक्रिय रहते हैं।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *